ग्रंथियाँ क्या होती हैं? ग्रंथियाँ कितने प्रकार की होती हैं? Endocrine Glands in Hindi

आपने कभी सुना होगा कि शरीर में ग्रंथियाँ या glands होती हैं, जो अलग अलग काम करती हैं, परंतु क्या आपको पता है ग्रंथि क्या होती है? ग्रंथि का शरीर में क्या काम है? यदि कोई ग्रंथि ठीक से काम ना करें तो क्या होगा? इन सब सवालों के उत्तर मिलेंगे इस लेख में। 
ग्रंथियाँ क्या होती हैं? ग्रंथियाँ कितने प्रकार की होती हैं? Endocrine Glands in Hindi


ग्रंथि क्या होती है? 

शरीर के वो भाग जो कोई ऐसे जैविक रसायन उत्पन्न करते हैं, जो शरीर की नित प्रतिदिन की प्रक्रियाओं को सुचारू रूप से चलाने में मदद करते हैं, इन भागों या शरीर के अंगों को ही ग्रंथि कहते हैं।
शरीर में मुख्यतः दो प्रकार की ग्रंथियाँ पाई जाती हैं:
  1. बर्हिस्रावी ग्रंथियाँ  
  2. अंत:स्रावी ग्रंथियाँ 

बर्हिस्रावी ग्रंथियाँ: 

ये वो ग्रंथियाँ हैं जिनमें नलिकाएँ पाई जाती हैं, जिनके माध्यम से अपने जैविक रसायनों अपने बाहर निकालकर छोड़ देती हैं, जो एपीथिलियम पर निकलते हैं,  इनके उदाहरण निम्नवत हैं: 

  1. पसीने को बाहर निकालने वाली ग्रंथियाँ 
  2. लार ग्रंथि
  3. स्तन ग्रंथियाँ जिनमें बच्चे के लिए दूध बनता है और स्रावित होता है
  4. अश्रु ग्रंथियाँ 
  5. प्रोस्टेट ग्रंथि

अंत:स्रावी ग्रंथियाँ: 

इन ग्रंथियों में कोई नलिका नहीं होती हैं ये अपने रसायन सीधे रक्त में छोड़ देते हैं और ये विभिन्न अंगों तक पहुँच कर काम करते हैं। जैसे थायरॉइड, पिट्युटरी आदि। 
इस लेख में हम अंत: स्रावी ग्रंथियों के विषय में एक एक करके जानेंगे, उसके पहले हम जान लेते हैं कि हमारे शरीर में कौन कौन सी अंत: स्रावी ग्रंथियाँ होती हैं: 
  1. हाइपोथैलेमस(Hypothalamus)
  2. पिट्युटरी (Pituitary)
  3. थायरॉइड (Thyroid)
  4. पैराथायरॉइड (Parathyroid)
  5. एडरीनल (adrenal)
  6. ओवरी (Ovary)
  7. टेस्टिस (Testes)
  8. पैंक्रीयाज का एंडोक्राइन भाग। 
चूँकि बहिर्स्रावी ग्रंथियों की बीमारियाँ बहुत कम होती हैं और जो होती हैं वो अधिकतर अनुवांशिक होती हैं, इसलिए इस लेख में तथा आने वाले लेखों में हम मुख्यतः अंत:स्रावी ग्रंथियों के विषय में जानेंगे। 

हाइपोथैलेमस(Hypothalamus): 

ग्रंथियाँ क्या होती हैं? ग्रंथियाँ कितने प्रकार की होती हैं? Endocrine Glands in Hindi


वैसे हाइपोथैलेमस पूरी तरह ग्रंथि नहीं है ये मुख्यतः हमारे दिमाग़ का हिस्सा होता है, परंतु ये बहुत से हॉर्मोन बनाता है और उनको रक्त में छोड़ता है इसलिए इसको ग्रंथियों के साथ भी पढ़ा जाता है। इसके प्रमुख कार्य निम्नवत हैं: 
  1. शरीर का तापमान नियंत्रित रखना
  2. भूख, प्यास को नियंत्रित करना
  3. नींद को नियंत्रित करना
  4. भावनाओं को नियमित करने में मदद करना
  5. शरीर की ग्रंथियों का शरीर के तंत्रिका तंत्र से संपर्क बनाना।इसके लिए बहुत सारे हॉर्मोन बनाता है और उनको रक्त में छोड़ता है जो पिट्युटरी ग्रंथि को नियमित करते हैं। 
हाइपोथैलेमस के केवल ग्रंथि वाले कार्य ही हम यहाँ पढ़ेंगे, हाइपोथैलेमस जो हॉर्मोन बनाता है और रक्त में छोड़ता है वो निम्नवत हैं: 

थायरोट्रोपिन रिलीज़िंग हॉर्मोन (Thyrotropin releasing Hormone Or TRH):

ये पिट्युटरी से थायरॉइड ग्रंथि को थायरॉक्सिन हॉर्मोन बनाने के लिए ज़रूरी थायरॉइड स्टिमुलेटिंग हॉर्मोन (Thyroid stimulating hormone or TSH) एवं प्रोलैक्टिन (prolactin) का बनना व रक्त में निकालने को बढ़ा देता है। 

कॉर्टिकोट्रॉपिन रिलीजिंग हॉर्मोन (Corticotropin releasing hormone Or CRH):

पिट्युटरी से Adrenocorticotropic hormone Or ACTH के निकलने को बढ़ाता है जो आगे जाकर एडरीनल ग्रंथि के हॉर्मोन बनने को नियमित करता है। 

डोपामिन (Dopamine): 

प्रोलैक्टिन (Prolactin) हॉर्मोन के बनने को कम करता है। 

ग्रोथ हॉर्मोन रिलीजिंग हॉर्मोन (Growth Hormone Releasing Hormone Ot GHRH): 

ये पिट्युटरी में ग्रोथ हॉर्मोन के बनने एवं उसके स्राव को बढ़ाता है। 

गोनाडोट्रोपिन रिलीजिंग हॉर्मोन (Gonadotropin releasing hormone): 

ये हॉर्मोन पिट्युटरी ग्रंथि को FSH(follicular stimulating hormone), LH(Leutinising hormone) को बनाने एवं रक्त में छोड़ने के लिए आदेशित करता है। 

इस लेख में इतना ही। शरीर की अन्य ग्रंथियों के विषय में आने वालेलेखों में जानेंगे क्योंकि यहाँ सबके विषय में बात करेंगे तो लेख बहुत लम्बा हो जाएगा। अगले लेख में हम बात करेंगे हमारे ग्रंथि तंत्र की हेडमास्टर पिट्युटरी ग्रंथि की और जानेंगे इससे निकलने वाले हॉर्मोन, उनके शरीर में कार्य और उनकी कमी से होने वाली बीमारियों के विषय में।

ये भी पढ़ें: 

स्रोत:
  1. Guyton’s Physiology
  2. Wikipedia 





Comments

Popular posts from this blog

पिट्युटरी या पीयूष ग्रंथि: संरचना एवं हॉर्मोन

एनस्थिसिया क्या होता है? एनस्थिसिया कितने प्रकार का होता है? एनस्थिसिया कैसे देते हैं? एपीड्यूरल एनस्थिसिया क्या होता है? Anaesthesia in hindi

म्यूकरमाइकोसिस क्या है? ब्लैक फ़ंगस क्या होता है?। कोरोना के मरीज़ों में ब्लैक फ़ंगस क्यों हो रहा है?। Black fungus in hindi

वजन कम करने के लिए डाइट प्लान कैसे बनाएँ? केवल डाइट से वजन कैसे कम करें।वजन कम करने के लिए क्या खाएँ और क्या ना खाएँ

सरकार क्यों चाहती है कि आप वॉल्व वाला N95 मास्क ना पहनें? WHO ने N95 मास्क को लेकर क्या चेतावनी जारी की है?